PDFSource

अग्निपथ योजना PDF

अग्निपथ योजना PDF Download

अग्निपथ योजना PDF Download for free using the direct download link given at the bottom of this article.

अग्निपथ योजना PDF Details
अग्निपथ योजना
PDF Name अग्निपथ योजना PDF
No. of Pages 10
PDF Size 3.16 MB
Language English
CategoryEnglish
Source static.mygov.in
Download LinkAvailable ✔
Downloads17
Tags: If अग्निपथ योजना is a illigal, abusive or copyright material Report a Violation. We will not be providing its PDF or any source for downloading at any cost.

अग्निपथ योजना

नमस्कार पाठकों, इस लेख के माध्यम से आप अग्निपथ योजना PDF प्राप्त कर सकते हैं। अग्निपथ योजना को हाल ही में भारत की केंद्र सरकार द्वारा जारी किया गया है जिसके अंतर्गत अस्थयाई रूप से चार वर्ष के लिए युवाओं को सेना में अपने देश के लिए सैनी सेवाएँ प्रदान करने का अवसर प्राप्त होगा। इस दौरान लिए उन्हें छह माह का प्रसिक्षण भी दिया जाएगा।

हालांकि, अग्निपथ योजना के विरोध में देश में विभिन्न स्थानों पर हिंसक प्रदर्शन हो रहे हैं । इन प्रदर्शनों के दौरान कई रेलगाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया है। यदि आप अग्निपथ योजना के बारे में सभी जानकारी विस्तार से जानना चाहते हैं तो इस लेख के अंत में दी गयी पीडीएफ़ फ़ाइल को डाउनलोड कर सकते हैं।

केंद्र की इस नई योजना पर रक्षा क्षेत्रों से जुड़े एक्सपर्ट्स की अलग-अलग राय है। कुछ ने इसे सकारात्मक बताया है जबकि इसके विरोध में भी राय दी गई है. रिटायर्ड मेजर जनरल शेओनान सिंह ने बीबीसी से कहा कि सेना में किसी को चार साल के लिए शामिल करना पर्याप्त समय नहीं है। चार साल में छह महीने तो ट्रेनिंग में निकल जाएंगे। इन्फैंट्री में काम करने के लिए स्पेशल ट्रेनिंग की भी जरुरत पड़ेगी।

अग्निपथ योजना PDF / Agneepath Yojana PDF in Hindi

सवाल-जवाब : अग्निवीरों को मिलेंगे नौकरी, पढ़ाई और कारोबार के पूरे अवसर

अग्निवीरों के भविष्य और अग्निपथ स्कीम को लेकर कई प्रकार की भ्रांतियां सामने आ रही हैं, जिन्हें सरकारी सूत्रों ने नकारते हुए तथ्य जारी किए हैं। पढ़िए इनके बारे में।

1 भ्रांति : अग्निवीरों का भविष्य असुरक्षित है।
तथ्य : भविष्य में यह होगा।

  • जो युवा उद्यमी बनने के इच्छुक हैं, उन्हें वित्तीय पैकेज व बैंक लोन मिलेंगे
  • जो आगे पढ़ने के इच्छुक हैं, उन्हें 12वीं के समकक्ष प्रमाणपत्र देकर ब्रिज कोर्स करवाया जाएगा
  • जो जॉब करना चाहते हैं, उन्हें केंद्रीय सशस्त्र सुरक्षा बलों व राज्य पुलिस में प्राथमिकता मिलेगी
  • कई अन्य सेक्टर भी इन अग्निवीरों के लिए खोले जाएंगे।
2 भ्रांति : अग्निपथ की वजह से युवाओं के लिए अवसर घटेंगे
तथ्य : युवाओं के लिए सशस्त्र सैन्य बलों में जाने के अवसर बढ़ेंगे। आज सशस्त्र सेनाओं में जितनी संख्या है, अग्निवीरों की भर्ती इससे तीन गुना होगी।3 भ्रांति : रेजिमेंटल निष्ठा पर असर पड़ेगा
तथ्य : सरकार रेजिमेंटल प्रणाली में कोई बदलाव नहीं कर रही है। बल्कि यह प्रणाली और मजबूत बनेगी क्योंकि यहां श्रेष्ठ अग्निवीर चुनकर आएंगे, इससे सामंजस्य में और भी सुधार आएगा।

4 भ्रांति : इससे सशस्त्र सैन्य बलों की कार्यक्षमता को नुकसान होगा।
तथ्य : अधिकतर देशों में छोटी अवधि के लिए सैन्य भर्ती व्यवस्था है, यह युवा और चुस्त सेना के लिए अच्छी मानी जाती है। पहले साल में भर्ती होने वाले अग्निवीर कुल सशस्त्र सैन्य बल के 3% होंगे। उनका प्रदर्शन जांच कर चार साल बाद सेना में फिर शामिल किया जाएगा। इस प्रकार सेना को वरिष्ठ रैंक पर जांचे-परखे सैनिक मिलेंगे।

5 भ्रांति : सेना के लिए 21 साल के सैनिक अपरिपक्व और विश्वास के काबिल नहीं होंगे।
तथ्य : विश्व की अधिकतर सेनाएं युवाओं पर निर्भर हैं। किसी भी समय सेना में अनुभवी लोगों से युवाओं की संख्या ज्यादा नहीं होगी। बल्कि अग्निपथ योजना से भी धीरे-धीरे 50-50 प्रतिशत युवा व अनुभवी वरिष्ठ रैंक अधिकारियों का अनुपात कायम होगा।

6 भ्रांति : सेना के लिए खतरा, आतंकियों से मिल सकते हैं।
तथ्य : ऐसा सोचना सेना के मूल्यों और प्रतिष्ठा का अपमान है। जो युवा 4 साल सेना की यूनिफॉर्म पहनेंगे, वे देश के प्रति समर्पित रहेंगे। हजारों सैनिक रिटायर होते हैं, लेकिन ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया, जिसमें वे देश विरोधी ताकतों से मिल गए हों।

You can download अग्निपथ योजना PDF by clicking on the following download button.

अग्निपथ योजना PDF Download Link

Report This
If the download link of Gujarat Manav Garima Yojana List 2022 PDF is not working or you feel any other problem with it, please Leave a Comment / Feedback. If अग्निपथ योजना is a illigal, abusive or copyright material Report a Violation. We will not be providing its PDF or any source for downloading at any cost.

Leave a Reply

Your email address will not be published.