वायु प्रदूषण PDF | Air Pollution PDF in Hindi

वायु प्रदूषण PDF | Air Pollution Hindi PDF Download

वायु प्रदूषण PDF | Air Pollution Hindi PDF Download for free using the direct download link given at the bottom of this article.

वायु प्रदूषण PDF | Air Pollution PDF Details
वायु प्रदूषण PDF | Air Pollution
PDF Name वायु प्रदूषण PDF | Air Pollution PDF
No. of Pages 2
PDF Size 4.37 MB
Language Hindi
CategoryEnglish
Source pdffile.co.in
Download LinkAvailable ✔
Downloads17

वायु प्रदूषण PDF | Air Pollution Hindi

नमस्कार मित्रों, आज इस लेख के माध्यम से हम आप सभी को वायु प्रदूषण PDF / Air Pollution PDF in Hindi प्रदान करने जा रहे हैं। शुद्ध वायु मानव जीवन के लिए अत्यंत ही आवश्यक एवं महत्वपूर्ण है। मनुष्य के जीवन के लिए जितना आवश्यक जल है उतनी ही आवश्यक प्रत्येक प्राणी के लिए वायु भी है। क्योंकि बिना वायु के धरती पर जीवन असंभव है। परंतु आजकल अनेकों प्रकार के प्रदूषणों की तरह ही वायु प्रदूषण भी दिन – प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है।

वायु प्रदूषण के बढ्ने के अनेकों कारण हैं, जिसमें सबसे बड़ा कारण स्वयं मनुष्य ही है। वायु प्रदूषण को स्पष्ट रूप से परिभाषित नहीं किया जा सकता। वायु कुछ गैसों का और नमी का मिश्रण है। इसमें कुछ अक्रिय पदार्थ भी सम्मिलित हैं। आज के इस दौर में अनेकों प्रकार के साधनों से इतना वायु प्रदूषण बढ़ गया है कि किसी भी जीव या मनुष्य के लिए शुद्ध ऑक्सीजन पर्याप्त मात्रा में मिलना असंभव हो गया है।

वायु प्रदूषण PDF / Air Pollution in Hindi PDF

  • जब हानिकारक धुआँ, धूल तथा गैस वायु में मिल जाती हैं तब उसे वायु प्रदूषण कहते हैं।
  • वायु मण्डल में किसी भी प्रकार की अवांछनीय वस्तु या गैस की उपस्थिति या मुक्त होना जो कि मनुष्य, प्राणियों एवं वनस्पतियों आदि को हानिकारक हो वायु प्रदूषण कहलाता है।
  • वायु प्रदूषण अवांछनीय गैसों जैसे सल्फर डाई ऑक्साइड, कार्बन डाइऑक्साइड के अधिक अनुपात की उपस्थिति के कारण होता है।
  • वायुमण्डल की रचना मूलतः विभिन्न प्रकार की गैसों से हुई है। वायु अनेक गैसों का आनुपातिक सम्मिश्रण है। इसमें गैसों का अनुपात इतना संतुलित है कि उसमें थोड़ा परिवर्तन भी संपूर्ण व्यवस्था अथवा चक्र को प्रभावित कर देता है और इसका प्रभाव पृथ्वी के जीव जगत पर पड़ता है।
  • वायु में उपस्थित गैसों पर प्राकृतिक अथवा मानवीय प्रभाव ही वायु प्रदूषण के लिए उत्तरदायी है।

वायु प्रदूषण पर निबंध PDF / वायु प्रदूषण के प्रकार बताइए

वायु प्रदूषण के चार प्रकार निम्न हैं:-

क्रमांक प्रकार विवरण
1. विविक्त प्रदूषण वायु में अनेक प्रदूषक ठोस रूप में उड़ते हुये पाये जाते हैं। ऐसे प्रदूषकों के उदाहरण – धूल, राख आदि हैं। ये कण बड़े-बड़े आकार के होते हैं व पृथ्वी की सतह पर फैलकर प्रदूषण फैलाते हैं इस प्रकार का प्रदूषण विविक्त प्रदूषण कहलाता है।
2. गैसीय प्रदूषण मानव क्रियाओं के द्वारा अनेक प्रकार की गैसों का निर्माण होता है व इस निर्माण में अनेक प्राकृतिक तत्वों के मिश्रण का भी योगदान रहता है। जब वायु में गंधक की ऑक्साइड, नाइट्रोजन की ऑक्साइड ईधन के जलने पर निकलने वाला धुंआ मिल जाते हैं, तो वह गैसीय प्रदूषक कहलाता है।
3. रासायनिक प्रदूषण आधुनिक उद्योगों में अनेक रासायनिक पदार्थों का प्रयोग होता है व इन उद्योगों से निकलने वाली गैसें, धुँए इत्यादि, वायुमण्डल में विषैली रासायनिक गैसें वायु को प्रदूषित करते हैं।
4. धुआँ धुन्ध प्रदूषण वायुमण्डल में धुआँ व कोहरा, अर्थात् वायु में विद्यमान जलवाष्प व जल बूँदों के महीन कण के संयोग से धुन्ध बनती है, जो वायुमण्डल में घुटन पैदा करती है और दृश्यता कम कर देती है।

वायु प्रदूषण के कारण PDF – वायु प्रदूषण के दुष्प्रभाव का वर्णन कीजिए

वायु प्रदूषण के अनेकों कारणों में से पाँच कारण इस प्रकार है:-

क्रमांक कारण विवरण
1. बढ़ती आबादी भारत जैसे देश में जिस गति से जनसंख्या में वृद्धि हो रही है वह बढ़ते वायु प्रदूषण का एक सबसे बड़ा कारण है। इसके पीछे सबसे बड़ा कारण प्राकृतिक संसाधनों का अंधाधुंध उपयोग होना है। बढ़ती आबादी के कारण औद्योगीकरण में भी भारी बढ़ोतरी हुई है। लोगों को रोजगार मुहैया कराने की वजह से इंडस्ट्री से निकलने वाली जहरीली हवा ने वायु को दूषित कर दिया है।
2. बढ़ते उद्योग यह कहा जा सकता है कि वायु प्रदूषण के लिए सबसे बड़ा कारण बढ़ते हुए उद्योग भी हैं। इससे निकलने वाले धुएँ ने सबसे ज्यादा वायु को प्रदूषित किया है। यह अधिकतर विकासशील देशों की समस्या है। बढ़ते उद्योग के कारण शहरों में सांस लेना भी दुर्लभ हो गया है।
3. संचार के साधन आज बढ़ती आबादी के कारण संचार के विभिन्न साधनों में भी तेजी से वृद्धि हो रही है। इन साधनों में हो रही अत्यधिक वृद्धि से इंजनों, बसों, वायुयानों, स्कूटरों आदि की संख्या बहुत तेजी से बढ़ती जा रही है। ये सभी वाहन अपने धुएं से वायुमण्डल में लगातार असन्तुलन पैदा करने का काम कर रहे हैं।
4. वनों की अंधाधुंध कटाई मानव ने अपनी सुख-सुविधा के लिए वनों की अंधाधुंध कटाई की है जिससे वायु प्रदूषण बढ़ा है। जैसा कि आपको पता होगा कि वृक्ष वायुमण्डल के प्रदूषण को निरन्तर कम करने का कार्य करते हैं। पौधे मानव जीवन को बचाने के लिए हानिकारक गैस (कार्बन डाई आक्साइड) को अपने भोजन के लिए ग्रहण करके मनुष्य को जीवनदायिनी गैस (आक्सीजन) प्रदान करते हैं।
5. परमाणु परिक्षण हमने आपसी वैमनष्य को इस कदर बढ़ा लिया है कि देशों के बीच लड़ाइयाँ होने लगी हैं और नए – नए हथियार बनाने की आपस में होड़ सी लग गयी है। इस वजह से लोगों ने परमाणु बम जैसे बेहद घातक और प्रदूषण फैलाने वाले हथियारों का आविष्कार कर लिया है। जो कि मानव जीवन के लिए अत्यंत ही घातक सिद्ध हो रहे हैं।

वायु प्रदूषण PDF Hindi / वायु प्रदूषण से बचाव के उपाय

नीचे दिये गए उपायों से वायु प्रदूषण को अत्यधिक नियंत्रित किया जा सकता है-

क्रमांक उपाय
1. वनों की हो रही अन्धाधुन्ध एवं अनियंत्रित कटाई को रोका जाना चाहिए। इस कार्य में सरकार के साथ-साथ स्वयंसेवी संस्थाएँ व प्रत्येक मानव को चाहिए कि वह वनों को नष्ट होने से रोके व वृक्षारोपण कार्यक्रम में बढ़ – चढ़कर भाग ले।
2. शहरीकरण की प्रक्रिया को रोकने के लिए गाँवों व कस्बों में ही रोजगार व कुटीर उद्योगों व अन्य सुविधाओं को उपलब्ध कराना चाहिए।
3. कारखानों को शहरी क्षेत्र से दूर स्थापित करना चाहिए, साथ ही ऐसी तकनीक उपयोग में लाने के लिए बाध्य करना चाहिए जिससे कि धुएँ का अधिकतर भाग अवशोषित हो और अवशिष्ट पदार्थ व गैसें अधिक मात्रा में वायु में न मिल पायें।
4. जनसंख्या शिक्षा की उचित व्यवस्था की जाए ताकि जनसंख्या वृद्धि को बढ़ने से रोका जा सके।
5. वाहनों में ईंधन से निकलने वाले धुएँ को ऐसे समायोजित करना होगा जिससे की कम-से-कम धुआँ बाहर निकले।
6. ऐसे ईंधन के उपयोग की सलाह दी जाए जिसके उपयोग करने से उसका पूर्ण आक्सीकरण हो सके व धुआँ कम-से-कम निकले।
7. निर्धूम चूल्हे व सौर ऊर्जा की तकनीकि को प्रोत्साहित कर इसे और ज्यादा उन्नत एवं सुलभ बनाना चाहिए।
8. शहरों-नगरों में अवशिष्ट पदार्थों के निष्कासन हेतु सीवरेज को सभी जगह बढ़ावा देना चाहिए।
9. इन सभी चीजों को बच्चों के पाठ्यक्रम में शामिल करके बच्चों में इसके प्रति चेतना एवं जागृति फैलाई जानी चाहिए।
10. इसकी जानकारी व इससे होने वाली हानियों के प्रति मानव समाज को सचेत करने हेतु संचार के माध्यम जैसे – दूरदर्शन, रेडियो पत्र-पत्रिकाओं आदि के माध्यम से अधिक से अधिक प्रचार करना चाहिए।

नीचे दिये गए लिंक का उपयोग करके आप वायु प्रदूषण PDF / Air Pollution in Hindi PDF को आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं।


वायु प्रदूषण PDF | Air Pollution PDF Download Link