ए पी जे अब्दुल कलाम जीवन परिचय PDF

ए पी जे अब्दुल कलाम जीवन परिचय PDF Download

ए पी जे अब्दुल कलाम जीवन परिचय PDF Download for free using the direct download link given at the bottom of this article.

ए पी जे अब्दुल कलाम जीवन परिचय PDF Details
ए पी जे अब्दुल कलाम जीवन परिचय
PDF Name ए पी जे अब्दुल कलाम जीवन परिचय PDF
No. of Pages 11
PDF Size 1.52 MB
Language English
Categoryहिन्दी | Hindi
Source pdffile.co.in
Download LinkAvailable ✔
Downloads17

ए पी जे अब्दुल कलाम जीवन परिचय

नमस्कार पाठकों, इस लेख के माध्यम से आप ए पी जे अब्दुल कलाम जीवन परिचय PDF प्राप्त कर सकते हैं। ए पी जे अब्दुल कलाम भारत के महान एवं महत्वपूर्ण व्यक्तित्वों में से एक हैं। ए॰ पी॰ जे॰ अब्दुल कलाम का पूरा नाम अवुल पकिर जैनुलाब्दीन अब्दुल कलाम था। उन्हें उनके प्रसंशकों द्वारा मिसाइल मैन के नाम से भी जाना जाता है।

ए पी जे अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को ब्रिटिश राज में रामेश्वरम के रमानाथपुरम जिल में हुआ था यह स्थान वर्तमान में भारत के तमिलनाडु में स्थित है। उन्होने अपने जीवनकाल में प्रोफेसर, लेखक, वैज्ञानिक तथा एयरोस्पेस इंजीनियर के रूप में अपनी सेवाएँ इस समाज की उन्नति हेतु समर्पित की हैं।

इस लेख के माध्यम से आप ए पी जे अब्दुल कलाम के संबंध में विस्तार से जानकारी प्राप्त कर पाएंगे साथ ही साथ आपको कुछ ऐसे तथ्य भी जानने को मिलेंगे जिनके संबंध में अपने पहले अन्यत्र नहीं पढ़ा होगा। 27 जुलाई 2015 को 83 वर्ष की आयु में भारतीय प्रबंधन संस्थान शिलोंग में “रहने योग्य ग्रह” पर एक व्याख्यान देते समय हृदयघात के कारण उनका निधन हो गया था।

ए पी जे अब्दुल कलाम जीवन परिचय PDF

नाम एपीजे अब्दुल कलाम
पूरा नाम डॉक्टर अवुल पाकिर जैनुल्लाब्दीन अब्दुल कलाम
(Abul Pakir Jainulabdeen Abdul Kalam)
जन्म 15 अक्टूबर, 1931
जन्म स्थान धनुषकोडी गांव, रामेश्वरम, तमिलनाडु
पिता का नाम जैनुलआबदीन
माता का नाम आशियम्मा
शिक्षा सेंट जोसेफ कॉलेज, तिरुचिरापल्ली,
मद्रास इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी
धर्म इस्लाम
पेशा वैज्ञानिक, प्रोफेसर , लेखक
शोक लिखना , किताबें पढ़ना, वीणा बजाना
राष्ट्रपति के रूप में
कार्यकाल
2002-07
पुरुस्कार
  • पद्म भूषण (1981),
  • पद्म विभूषण (1990),
  • भारत रत्न (1997)
मृत्यु 27 जुलाई 2015

अब्दुल कलाम भारत के ग्यारहवें और पहले गैर-राजनीतिज्ञ राष्ट्रपति रहे, जिनको ये पद तकनीकी एवं विज्ञान में विशेष योगदान की वजह से मिला था। वे एक इंजिनियर व् वैज्ञानिक थे, कलाम जी 2002-07 तक भारत के राष्ट्रपति भी रहे। राष्ट्रपति बनने के बाद कलाम जी सभी देशवासियों की नजर में बहुत सम्मानित और निपुण व्यक्ति रहे है. कलाम जी ने लगभग चार दशकों तक वैज्ञानिक के रूप में काम किया है, वे बहुत से प्रतिष्ठित संगठन के व्यवस्थापक भी रहे है।

अब्दुल कलाम जन्म व् शैक्षिक जीवन

कलाम जी का जन्म धनुषकोडी गांव, रामेश्वरम, तमिलनाडु में मछुआरे परिवार में हुआ था, वे तमिल मुसलमान थे। इनका पूरा नाम डॉक्टर अवुल पाकिर जैनुल्लाब्दीन अब्दुल कलाम है। इनके पिता का नाम जैनुलाब्दीन था। वे एक मध्यम वर्गीय परिवार के थे। इनके पिता अपनी नाव मछुआरों को देकर घर चलाते थे। बालक कलाम को भी अपनी शिक्षा के लिए बहुत संघर्ष करना पढ़ा था। वे घर घर अख़बार बाटते और उन पैसों से अपने स्कूल की फीस भरते थे। अब्दुल कलामजी ने अपने पिता से अनुशासन, ईमानदारी एवं उदार स्वभाव में रहना सिखा था। इनकी माता जी ईश्वर में असीम श्रद्धा रखने वाली थी। कलाम जी के 3 बड़े भाई व् 1 बड़ी बहन थी. वे उन सभी के बहुत करीब रिश्ता रखते थे।

1958 में कलाम जी D.T.D. and P. में तकनिकी केंद्र में वरिष्ट वैज्ञानिक के रूप कार्य करने लगे। यहाँ रहते हुए ही इन्होंने prototype hover craft के लिए तैयार वैज्ञानिक टीम का नेतृत्व किया। करियर की शुरुवात में ही अब्दुल कलामजी ने इंडियन आर्मी के लिए एक स्माल हेलीकाप्टर डिजाईन किया। 1962 में अब्दुल कलामजी रक्षा अनुसन्धान को छोड़ भारत के अन्तरिक्ष अनुसन्धान में कार्य करने लगे। 1962 से 82 के बीच वे इस अनुसन्धान से जुड़े कई पदों पर कार्यरत रहे। 1969 में कलाम जी ISRO में भारत के पहले SLV-3 (Rohini) के समय प्रोजेक्ट हेड बने।

अब्दुल कलाम जी के नेतृत्व में 1980 में रोहिणी  को सफलतापूर्वक पृथ्वी के निकट स्थापित कर दिया गया. इनके इस महत्वपूर्ण योगदान के लिए 1981 में भारत सरकार द्वारा इनको भारत के राष्ट्रीय पुरस्कारों में से एक पदम् भूषण से सम्मानित किया गया। अब्दुल कलाम जी हमेशा अपनी सफलता का श्रेय अपनी माता को देते थे। उनका कहना था उनकी माता ने ही उन्हें अच्छे-बुरे को समझने की शिक्षा दी। वे कहते थे “पढाई के प्रति मेरे रुझान को देखते हुए मेरी माँ ने मेरे लिये छोटा सा लैम्प खरीदा था, जिससे मैं रात को 11 बजे तक पढ सकता था। माँ ने अगर साथ न दिया होता, तो मैं यहां तक न पहुचता।”

एपीजे अब्दुल कलाम की पुस्तकें

अब्दुल कलम जी की  प्रचलित व सफल पुस्तकों में से कुछ निम्नलिखित हैं:

क्रमांक

पुस्तकें

1. इंडिया 2020 – ए विशन फॉर दी न्यू मिलेनियम
2. विंग्स ऑफ़ फायर – ऑटोबायोग्राफी
3. इग्नाइटेड माइंड
4. ए मेनिफेस्टो फॉर चेंज
5. मिशन इंडिया
6. इन्सपारिंग थोट
7. माय जर्नी
8. एडवांटेज इंडिया
9. यू आर बोर्न टू ब्लॉसम
10. दी लुमीनस स्पार्क
11. रेइगनिटेड

एपीजे अब्दुल कलाम की म्रत्यु

27 जुलाई 2015 की शाम अब्दुल कलाम भारतीय प्रबंधन संस्थान शिलोंग में ‘रहने योग्य ग्रह’ पर एक व्याख्यान दे रहे थे जब उन्हें जोरदार कार्डियक अरेस्ट (दिल का दौरा) हुआ और ये बेहोश हो कर गिर पड़े। लगभग 6:30 बजे गंभीर हालत में इन्हें बेथानी अस्पताल में आईसीयू में ले जाया गया और दो घंटे के बाद इनकी मृत्यु की पुष्टि कर दी गई। अस्पताल के सीईओ जॉन साइलो ने बताया कि जब कलाम को अस्पताल लाया गया तब उनकी नब्ज और ब्लड प्रेशर साथ छोड़ चुके थे।

अपने निधन से लगभग 9 घण्टे पहले ही उन्होंने ट्वीट करके बताया था कि वह शिलोंग आईआईएम में लेक्चर के लिए जा रहे हैं। कलाम अक्टूबर 2015 में 84 साल के होने वाले थे। मेघालय के राज्यपाल वी॰ षडमुखनाथन; अब्दुल कलाम के हॉस्पिटल में प्रवेश की खबर सुनते ही सीधे अस्पताल में पहुँच गए। बाद में षडमुखनाथन ने बताया कि कलाम को बचाने की चिकित्सा दल की कोशिशों के बाद भी शाम 7:45 पर उनका निधन हो गया।

अटल बिहारी वाजपेयी के साथ कार्यकाल में इन्होने देश के लिए बहुत योगदान दिया। यह अपने सरल एवम साधारण व्यव्हार के लिए प्रसिद्ध रहे। मुस्लिम होने के कारण इन्हें दुसरे मुल्क ने अपने मुल्क में बुलाया, लेकिन देश के प्रति प्रेम के कारण उन्होंने कभी देश को नहीं त्यागा।इन्हें देश के एक सफल राष्ट्रपति के तौर पर देखा गया था, इन्होने देश के युवा को समय- समय पर मार्गदर्शन दिया। उन्होंने अपने उद्घोष एवम अपनी किताबों के जरिये युवा को मार्गदर्शन दिया।

ए पी जे अब्दुल कलाम जीवन परिचय PDF डाउनलोड करने के लिए नीचे दिये गए डाउनलोड बटन पर क्लिक करें।


ए पी जे अब्दुल कलाम जीवन परिचय PDF Download Link

RELATED PDF FILES