नवग्रह पीड़ाहर स्तोत्र PDF । Navagraha Peeda Parihara Stotram Lyrics PDF in Sanskrit

नवग्रह पीड़ाहर स्तोत्र PDF । Navagraha Peeda Parihara Stotram Lyrics Sanskrit PDF Download

नवग्रह पीड़ाहर स्तोत्र PDF । Navagraha Peeda Parihara Stotram Lyrics Sanskrit PDF Download for free using the direct download link given at the bottom of this article.

नवग्रह पीड़ाहर स्तोत्र PDF । Navagraha Peeda Parihara Stotram Lyrics PDF Details
नवग्रह पीड़ाहर स्तोत्र PDF । Navagraha Peeda Parihara Stotram Lyrics
PDF Name नवग्रह पीड़ाहर स्तोत्र PDF । Navagraha Peeda Parihara Stotram Lyrics PDF
No. of Pages 4
PDF Size 0.46 MB
Language Sanskrit
CategoryReligion & Spirituality
Download LinkAvailable ✔
Downloads17

नवग्रह पीड़ाहर स्तोत्र PDF । Navagraha Peeda Parihara Stotram Lyrics Sanskrit

प्रिय पाठक, यदि आप नवग्रह पीड़ाहर स्तोत्र PDF / Navagraha Peeda Parihara Stotram Lyrics PDF in Sanskrit खोज रहे हैं और आप इसे कहीं भी नहीं ढूंढ पा रहे हैं तो चिंता न करें आप सही पेज पर हैं क्योंकि, इस पोस्ट में, हमने अपने दैनिक उपयोगकर्ताओं की सहायता के लिए नवग्रह हर स्तोत्र के बारे में पूरी जानकारी प्रदान की है। हिंदू वैदिक ज्योतिष के अनुसार हर व्यक्ति की कुंडली में नवग्रह मंडल का बहुत महत्व होता है। ऐसा माना जाता है कि हर जातक इन ग्रहों से प्रभावित होता है।

नौ ग्रह नौ विभिन्न प्रकार की ऊर्जाओं के माध्यम से जातक के जीवन को नियंत्रित और प्रभावित करते हैं, जिसके कारण व्यक्ति अपने जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में विजय प्राप्त करता है। यदि आप भी भगवान श्री गणेश जी की कृपा प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको नियमित रूप से भालचंद्र नवग्रह पीठाहार स्तोत्र का पाठ करना चाहिए।

नवग्रह पीड़ाहर स्तोत्र PDF । Navagraha Peeda Parihara Stotram Lyrics PDF In Sanskrit

नवग्रहपीडाहरस्तोत्रम्

ग्रहाणामादिरादित्यो लोकरक्षणकारकः ।

विषमस्थानसंभूतां पीडां हरतु मे रविः ॥ १॥

 

रोहिणीशः सुधामूर्तिः सुधागात्रः सुधाशनः ।

विषमस्थानसंभूतां पीडां हरतु मे विधुः ॥ २॥

 

भूमिपुत्रो महातेजा जगतां भयकृत् सदा ।

वृष्टिकृद्वृष्टिहर्ता च पीडां हरतु मे कुजः ॥ ३॥

 

उत्पातरूपो जगतां चन्द्रपुत्रो महाद्युतिः ।

सूर्यप्रियकरो विद्वान् पीडां हरतु मे बुधः ॥ ४॥

 

देवमन्त्री विशालाक्षः सदा लोकहिते रतः ।

अनेकशिष्यसम्पूर्णः पीडां हरतु मे गुरुः ॥ ५॥

 

दैत्यमन्त्री गुरुस्तेषां प्राणदश्च महामतिः ।

प्रभुस्ताराग्रहाणां च पीडां हरतु मे भृगुः ॥ ६॥

 

सूर्यपुत्रो दीर्घदेहो विशालाक्षः शिवप्रियः ।

मन्दचारः प्रसन्नात्मा पीडां हरतु मे शनिः ॥ ७॥

 

महाशिरा महावक्त्रो दीर्घदंष्ट्रो महाबलः ।

अतनुश्चोर्ध्वकेशश्च पीडां हरतु मे शिखी ॥ ८॥

 

अनेकरूपवर्णैश्च शतशोऽथ सहस्रशः ।

उत्पातरूपो जगतां पीडां हरतु मे तमः ॥ ९॥

 

॥ इति ब्रह्माण्डपुराणोक्तं नवग्रहपीडाहरस्तोत्रं सम्पूर्णम् ॥

You may also like:

Brahma Purana

विष्णु सूक्त | Vishnu Suktam Sanskrit

कालभैरव अष्टकमी | Kalabhairava Ashtakam Sanskrit

Namami Shamishan Nirvan Roopam

बृहस्पति मंत्र | Brihaspati Mantra Sanskrit

नारायण कवच PDF | Narayan Kavach Sanskrit

रुद्रम नमकम चमकम | Rudram Namakm Chamakm Sanskrit

नवग्रह पीड़ाहर स्तोत्र PDF । Navagraha Peeda Parihara Stotram Lyrics PDF In Sanskrit डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।


नवग्रह पीड़ाहर स्तोत्र PDF । Navagraha Peeda Parihara Stotram Lyrics PDF Download Link

RELATED PDF FILES