PDFSource

शिव पार्वती की विवाह कथा | Shiv Parvati Ki Vivah Katha PDF in Hindi

शिव पार्वती की विवाह कथा | Shiv Parvati Ki Vivah Katha Hindi PDF Download

शिव पार्वती की विवाह कथा | Shiv Parvati Ki Vivah Katha Hindi PDF Download for free using the direct download link given at the bottom of this article.

शिव पार्वती की विवाह कथा | Shiv Parvati Ki Vivah Katha PDF Details
शिव पार्वती की विवाह कथा | Shiv Parvati Ki Vivah Katha
PDF Name शिव पार्वती की विवाह कथा | Shiv Parvati Ki Vivah Katha PDF
No. of Pages 4
PDF Size 0.58 MB
Language Hindi
CategoryEnglish
Source pdffile.co.in
Download LinkAvailable ✔
Downloads17
If शिव पार्वती की विवाह कथा | Shiv Parvati Ki Vivah Katha is a illigal, abusive or copyright material Report a Violation. We will not be providing its PDF or any source for downloading at any cost.

शिव पार्वती की विवाह कथा | Shiv Parvati Ki Vivah Katha Hindi

Dear reader, if you are searching for शिव पार्वती विवाह कथा / Shiv Parvati Vivah Katha PDF and you are unable to find it anywhere then don’t worry you are on the right page. He is pleased with the worship of Lord Bholenath Shankar and showers his blessings on his devotees. In this Shiva Parvati marriage story of Shiva, there is a description of the divine marriage of Lord Shiva and Mother Parvati. The meaning of the story of Shiva Parvati’s marriage is the glory of Lord Shiva. By worshiping Lord Shiva, neither a person remains in danger of premature death nor there is any fear of any kind of accident and Lord Shiva protects that person and his family.

This story describes the marriage of Lord Shiva. There is a description in the Puranas about the marriage of Lord Shiva. According to mythology, Lord Shiva was the first to marry Sati. This marriage of Lord Shiva took place under very complicated circumstances.

शिव पार्वती की विवाह कथा | Shiv Parvati Ki Vivah Katha PDF

भगवान शिव के विवाह के बारे में पुराणों में वर्णन मिलता है. पौराणिक कथाओं के अनुसार भगवान शिव ने सबसे पहले सती से विवाह किया था. भगवान शिव का यह विवाह बड़ी जटिल परिस्थितियों में हुआ था. सती के पिता दक्ष भगवान शिव से अपने पुत्री का विवाह नहीं करना चाहते थे लेकिन ब्रह्मा जी के कहने पर यह विवाह सम्पन्न हो गया. एक दिन राजा दक्ष ने भगवान शिव का अपमान कर दिया जिससे नाराज होकर माता सती ने यज्ञ में कूदकर आत्मदाह कर ली. इस घटना के बाद भगवान शिव तपस्या में लीन हो गए. उधर माता सती ने हिमवान के यहां पार्वती के रूप में जन्म लिया. तारकासुर नाम के एक असुर का उस समय आतंक था. देवतागण उससे भयभीत थे.

तारकासुर को वरदान प्राप्त था कि उसका वध सिर्फ भगवान शिव की संतान ही कर सकती है. उस समय भी भगवान शिव अपनी तपस्या में लीन थे. तब सभी देवताओं ने मिलकर शिव और पार्वती के विवाह की योजना बनाई. भगवान शिव की तपस्या को भंग करने के लिए कामदेव को भेजा गया लेकिन वह भस्म हो गए. देवताओं की विनती पर शिव जी पार्वती जी से विवाह करने के लिए राजी हुए. विवाह की बात तय होने के बाद भगवान शिव की बारात की तैयार हुई. इस बारात में देवता, दानव, गण, जानवर सभी लोग शामिल हुए. भगवान शिव की बारात में भूत पिशाच भी पहुंचे. ऐसी बारात को देखकर पार्वती जी की मां बहुत डर गईं और कहा कि वे ऐसे वर को अपनी पुत्री को नहीं सौंप सकती हैं. तब देवताओं ने भगवान शिव को परंपरा के अनुसार तैयार किया, सुंदर तरीके से श्रृंगार किया इसके बाद दोनों का विवाह सम्पन्न हुआ.

माता पार्वती जी की आरती | Mata Parvati Ki Aarti Lyrics

जय पार्वती माता जय पार्वती माता

ब्रह्म सनातन देवी शुभ फल कदा दाता।

जय पार्वती माता जय पार्वती माता।

अरिकुल पद्मा विनासनी जय सेवक त्राता

जग जीवन जगदम्बा हरिहर गुण गाता।

जय पार्वती माता जय पार्वती माता।

सिंह को वाहन साजे कुंडल है साथा

देव वधु जहं गावत नृत्य कर ताथा।

जय पार्वती माता जय पार्वती माता।

सतयुग शील सुसुन्दर नाम सती कहलाता

हेमांचल घर जन्मी सखियन रंगराता।

जय पार्वती माता जय पार्वती माता।

शुम्भ निशुम्भ विदारे हेमांचल स्याता

सहस भुजा तनु धरिके चक्र लियो हाथा।

जय पार्वती माता जय पार्वती माता।

सृष्ट‍ि रूप तुही जननी शिव संग रंगराता

नंदी भृंगी बीन लाही सारा मदमाता।

जय पार्वती माता जय पार्वती माता।

देवन अरज करत हम चित को लाता

गावत दे दे ताली मन में रंगराता।

जय पार्वती माता जय पार्वती माता।

श्री प्रताप आरती मैया की जो कोई गाता

सदा सुखी रहता सुख संपति पाता।

जय पार्वती माता मैया जय पार्वती माता।

You may also like:

श्री शिवरामाष्टक स्तोत्रम् | Shiv Ramashtakam in Hindi

रावण रचित शिव तांडव स्तोत्र PDF | Shiva Tandava Stotram by Ravana

ॐ जय शिव ओमकारा आरती लिरिक्स PDF/ Om Jai Shiv Omkara Aarti Lyrics

शिव तांडव स्तोत्र | Shiv Tandav Lyrics Hindi

शिव सूत्र | Shiv Sutra In Hindi

शिव स्तुति मंत्र | Shiv Stuti In Hindi

शिव सहस्रनाम स्तोत्र | Shiva Sahasranama Stotram In Hindi

शिव जी आरती | Shiv Aarti Lyrics

Here you can download the free शिव पार्वती विवाह कथा / Shiv Parvati Vivah Katha PDF by clicking on this link.


शिव पार्वती की विवाह कथा | Shiv Parvati Ki Vivah Katha PDF Download Link

Report This
If the download link of Gujarat Manav Garima Yojana List 2022 PDF is not working or you feel any other problem with it, please Leave a Comment / Feedback. If शिव पार्वती की विवाह कथा | Shiv Parvati Ki Vivah Katha is a illigal, abusive or copyright material Report a Violation. We will not be providing its PDF or any source for downloading at any cost.

RELATED PDF FILES

Leave a Reply

Your email address will not be published.